Sufinama

पटना के शायर और अदीब

कुल: 136

मशहूर अफ़्साना निगार और नॉवेल निगार, हिन्दुस्तान में साम्प्रदायिक दंगों के परिप्रेक्ष्य में कहनियाँ और उपन्यास लेखन के लिए जाने जाते हैं।

अग्रणी पूर्व-आधुनिक शायरों में विख्यात।

फुलवारी शरीफ़ के सूफ़ी शाइ’र

ख़ानक़ाह-ए-बल्ख़िया फ़िदोसिया, फ़तूहा के सज्जादा-नशीं के साहब-ज़ादे

बािहर शरीफ़ का एक नुमाइंदा शाइ’र

कैफ़ियतुल-आ’रिफ़ीन और कंज़ुल-अंसाब के मुसन्निफ़ और राम-सागर गया के मशहूर सूफ़ी

बिहार के नाम-वर शाइ’र, अदीब, मुसन्निफ़ और मुहक़्क़िक़

उर्दू अदब का एक शाइ’र

फ़ारसी ज़बान के मशहूर सूफ़ी शाइ’र

पटना सिटी का एक गुम-शुदा शाइ’र

ख़ानक़ाह मुजीबिया, फुलवारी शरीफ़ के सज्जादा-नशीं और बिहार के मुमताज़ फ़ारसी-गो शाइ’र

ख़ानक़ाह इ’मादिया क़लंदरिया, मंगल तालाब के सज्जादा-नशीन

ख़्वाजा रुकनुद्दीन इ’श्क़ के मुम्ताज़ शागिर्द और मुरीद

हाजी वारिस अ’ली शाह के मुरीद, मा’रूफ़ मुसन्निफ़ और अकबर इलाहाबादी के क़रीबी दोस्त

हसरत मोहानी के सोहबत याफ़्ता शाइ’र

अ’ज़ीमाबाद से कराची हिज्रत करने वाला शाइ’र

तरक़्क़ी -ए-उर्दू (चाटगाम) के सद्र

अ’ज़ीमाबाद के मुहक़्क़िक़

माहनामा अदीब, इलाहाबाद के मुदीर-ए-आ’अला

बोलिए