Sufinama

पाकिस्तान के शायर और अदीब

कुल: 181

मुख़्तलिफ़ ख़ूबियों वाला एक अ’ज़ीम शायर

बेदम शाह वारसी के मुरीद और मा’रूफ़ वारसी मुसन्निफ़-ओ-शाइ’र

पूर्वाधुनिक शायरों में शामिल, परम्परा और आधुनिकता के मिश्रण की शायरी के लिए जाने जाते हैं

आ’ला हज़रत के शागिर्द-ए-अ’ज़ीज़

पंजाबी ज़बान के सूफ़ी शाइ’र

इंक़लाब और हुस्न-ओ-इश्क़ के शायर,नाटककार,गीतकार, मुशाएरा के बड़े शायर ,अपनी नज़्म “झूम कर उठो वतन आज़ाद करने के लिए” की वजह से मशहूर

मा’रूफ़ वारसी सूफ़ी और अदीब-ओ-शाइ’र

दबिस्तान-ए-साबिरी का एक सूफ़ी शाइ’र

अटक के अ प्रसिद्ध लेखक, कवि और शोधकर्ता हैं। आप पाकिस्तान राईटर्ज़ गिल्ड के भी सदस्य हैं

कराची के मा’रूफ़ सना-ख़्वान-ए-रसूल और शे’र-ओ-सुख़न के लिए मशहूर

बारहवीं सदी के मुबल्लिग़ और सूफ़ी बुज़ुर्ग थे, उनको क़ुरून-इ-वुस्ता के सबसे मुमताज़ और क़ाबिल-ए-एहतिराम सूफ़िया में से एक कहा गया है, उनका मज़ार पाकपतन, पाकिस्तान में है

लखनऊ का मा’रूफ़ ना’त-गो शाइ’र

पंजाब के मा’रूफ़ सूफ़ी शाइ’र जिनके अशआ’र से आज भी एक ख़ास रंग पैदा होता है और रूह को तस्कीन मिलती है

हकीम हबीब अ’ली काकोरी के साहिब-ज़ादे

आस्ताना हज़रत क़मरुद्दीन अबुल-उ'लाई, से वाबस्ता

पाकिस्तान के मशहूर सूफ़ी और कश्फ़ुलमहजूब के मुसन्निफ़

speakNow