Sufinama

दिल्ली के शायर और अदीब

कुल: 85

मशहूर सूफ़ी और आ’लिम-ए-दीन

हसरती

1806 - 1869

संत चरण दास जी की शागिर्दा हैं, उनकी तख़लीक़ात का मज्मू'आ सहज प्रकाश के नाम से शाए’ हुआ है

मशहूर रुबाई-गो शाइ’र और शहीद-ए-इ’श्क़ जिन्हें अ’ह्द-ए-औरंगज़ेब में शहीद कर दिया गया था

ख़्वाजा हसन जहाँगीरी भेसोड़ी के मुरीद-ओ-ख़लीफ़ा और सिलसिला-ए-अबुल-उ’लाइया जहाँगीरी हुसैनिया के मा’रूफ़ शाइ’र

बर्र-ए-सग़ीर के नाम-वर आ’लिम-ए-दीन और मुहद्दिस

ख़ानक़ाह-ए-काज़िमिया, काकोरी के बानी और रुहानी शाइ’र

मुग़लिया सल्तनत का सोलहवाँ बादशाह

ख़्वाजा फ़ख़्रुद्दीन चिश्ती देहलवी के मुरीद और गुम-गश्ता सूफ़ी शाइ’र

उर्दू के पहले सबसे बड़े शायर जिन्हें ' ख़ुदा-ए-सुख़न, (शायरी का ख़ुदा) कहा जाता है.

दिल्ली के मा’रूफ़ नक़्शबंदी मुजद्ददी बुज़ुर्ग और मुमताज़ सूफ़ी शाइ’र

महान शायर/विश्व-साहित्य में उर्दू की आवाज़/सब से अधिक लोकप्रिय सुने और सुनाए जाने वाले अशआर के रचयिता

“गुलशन-ए-बे-खार” का मुसन्निफ़

दिल्ली में मुक़ीम पुर-गो-शाइ’र और ऑल इंडिया रेडीयो की फ़ारसी सर्विस से वाबस्ता

फ़ारसी ज़बान के मशहूर सूफ़ी शाइ’र

हिन्दुस्तान के मुमताज़ सूफ़ी और अमीर ख़ुसरो के पीर-ओ-मुर्शिद

मनेरी फ़ाउंडेशन के सरपरस्त और तसव्वुफ़ के ज़ौक़ से मा’मूर