Sufinama
Imam Ghazali's Photo'

इमाम ग़ज़ाली

1058 - 1111 | बग़दाद, इराक़

सूफ़ी साहित्य 2

 

उद्धरण 1

जो व्यक्ति हराम की कमाई खाता है उसके शरीर के हर एक अंग पाप करने लगते हैं. चाहे वह उसकी इच्छा रखता हो या रखता हो!

  • शेयर कीजिए
 

पुस्तकें 4

Al-Ghazali on Islamic Guidance

 

 

इहया-ए-उलूमिद्दीन

Volume-001

1993

इल्म-ए-लदुन्नी

Urdu Tarjama

 

My Dear Beloved Son or Daughter