Sufinama

सुझाए गए संत कवि

सुझाए गए संत कवि

1548 -1599 पाठन

एकनाथ मराठी के एक मशहूर सन्त, आ’लिम और मज़हबी शाइ’र थे, उन्हें उनके अभंग की वजह से शोहरत हासिल है जो आज भी भारत के मराठी बोलने वाले अफ़राद गाते हैं

पंद्रहवीं सदी के एक सूफ़ी शाइ’र और संत जिन्हें भगत कबीर के नाम से भी जाना जाता है, कबीर अपने दोहे की वजह से काफ़ी मशहूर हैं, उन्हें भक्ति तहरीक का सबसे बड़ा शाइ’र होने का ए’ज़ाज़ हासिल है

गुलाल साहिब के मुरीद और जां-नशीन जिनके कई ग्रंथ हैं जिनमें से एक राम जहाज़ है जो एक ज़ख़ीम किताब है

1498 -1557 मेड़ता

हिन्दू धर्म के भगवान कृष्ण की भक्ति शाखा की मक़बूल शाइ’रा थीं

कबीर के हम-अ’स्र और संत रामानंद जी के शागिर्द हैं

एक ऐसे मुसलमान शाइ’र जो भगवान कृष्ण के पैरोकार थे, आपने शंकर, गंगा और होली के त्यौहार पर भी नज़्में लिखी हैं

1553 -1626 आगरा

अब्दुर्रहीम ख़ान-ए-ख़ानां एक अच्छे शाइ’र और क़िस्सा-गो थे, वो इ’ल्म-ए-नुजूम के अ’लावा उर्दू और संस्कृत ज़बान के एक फ़सीह-ओ-बलीग़ शाइ’र थे, पंजाब के नौशहर ज़िला’ में एक देहात को उनके नाम ख़ान ख़ानख़ाना से मौसूम किया गया है

सूरदास सोलहवीं सदी के एक ना-बीना सन्त शाइ’र और गुलूकार जो कृष्ण जी की ता’रीफ़ में कलाम लिखने पर शोहरत रखते हैं

संत चरण दास जी की शागिर्दा हैं, उनकी तख़लीक़ात का मज्मू'आ सहज प्रकाश के नाम से शाए’ हुआ है