Sufinama
noImage

खिरदमंद अली

खिरद मन्द अली शाहपुर के लाला श्री राम के आश्रित थे। इन्होंने हिजरी सन् 1206 में मनामल दीनी नामक पुस्तक लिखी जिसमें कुरान कुछ आयतों का हिंदी में अनुवाद किया जिसकी नकल कुदरत अली ने हिजरी सन् 1253 में की। पुस्तक में कुल 48 आयतों का हिंदी अनुवाद है। अन्त में कुछ आयतों की विस्तृत व्याख्या भी पौराणिक ढंग पर की है। 

संबंधित टैग