Sufinama

जंगपुर जलालपुर गाँव में जन्म। यह गाँव फैजाबाद के जिले में आजमगढ़ की पश्चिमी सीमा से मिला हुआ हैं। पलटू साहब विक्रम की उन्नीसवीं शती में वर्तमान थे। अवध के नवाब शुजाउद्दौला और हिंदुस्तान के बादशाह शाह आलम इनके समकालीन थे। पलटू साहब बहुत समय तक फैजाबाद के अयोध्या में रहे, जहाँ उन्होंने अपना सत्संग खड़ा किया। इसी स्थान पर उन्होंने अपना शरीर त्याग किया। पलटूपंथी साधू और गृहस्थ भारतवर्ष के हर भाग में मिलते हैं।